10 खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व 

10 खतरनाक वायरस
नमस्कार दोस्तो आज हम लोग बात करेंगे कुछ ऐसे खतरनाक वायरस के बारे में जिन के आने से पूरा विश्व हिल गया था . जिन के आने से पता नहीं कितना ही नुकशान हो गया था . आप का और पता नहीं कितने ही bank और कितनी कम्पनी का नुकशान हो गया था . तो जानते हे उन खतरनाक 10 वायरस के बारे में . तो चलिये शुरू करते हे . आज की पोस्ट ...

अक्सर आप लोगो ने  सुना होगा कि पेन ड्राइव में वायरस है या फिर कंप्यूटर में वायरस आ गया है। पंरतु क्या आपने कभी सोचा है इन वायरस का काम क्या है और क्यों लोग इनसे डरते हैं? तो चलिए आपको बताते हैं। वास्तव में वायरस एक प्रोग्राम है तो आपके कंप्यूटर, लैपटॉप या मोबाइल सहित अन्य इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों में चुपके से बैठ जाता है और आपके डिवाइस पर अपना नियंत्रण कर लेता है। चुपके से यह आपसे डाटा चोरी करता है और आपकी निजी जानकारियां चुराकर उसका गलत उपयोग कर सकता है।और आप लोगो से आप का data वापस देने के लिए आप से कई बार पैसे की भी डिमांड करता हे . और कई बार हम को अपना data वापास लेने के लिए इन को पैसे देने ही पदथे हे . क्यु की हमरा कई इंपोटेंट data होता हे हमारे computer या leptop में . अब किया करे अपनी जानकारी बाचने के लिए और किया करे .

कई बार तो इन वायरस ने पूरे विश्व के तकनीक जगत को हिलाकर रख दिया। ऐसा ही एक रैनसमवेयर हाल में भी आया जिससे विश्व भर के 155 देशों को नुकसान पहुचाया हे । इतना ही नहीं हैकर्स ने कंम्यूटर्स हैक करके करोड़ों रुपये की फिरौती भी मांगी। वायरस अटैक का यह मामला पहला नहीं हे । इससे पहले भी कई बार ​विश्व स्तर पर कुछ रैनसमवेयर और मालवेयर्स वायरस ने लोगों को बेहद तंग किया है। में आप को आगे कुछ ऐसे 10 खतरनाक वायर का जिक्र किया है जिन्होंने पिछले कुछ सालों में तकनीक जगत को ​हिला कर रख दिया।

आप ने ऐसे 3D wallpapers पहले कभी नहीं देखे होंगे 100%यहाँ क्लिक कर के देखे ये विडियो

आप लोगो ने अक्सर सुना होगा कि पेन ड्राइव में वायरस आ गया है या फिर कंप्यूटर में वायरस आ गया है। पंरतु क्या आपने कभी सोचा है. ये वायरस आते कहा से हे .इन वायरस का काम क्या है और क्यों लोग इनसे डरते हे . भाई कल तो सही था मेरा computer . पता नहीं आज कहा से वायरस आ गया इस में . तो चलिए आपको बताते हैं। वास्तव में वायरस एक प्रोग्राम है तो आपके कंप्यूटर, लैपटॉप या मोबाइल सहित अन्य इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों में चुपके से बैठ जाता है और आपके डिवाइस पर अपना नियंत्रण कर लेता है। चुपके से यह आपसे डाटा चोरी करता है और आपकी निजी जानकारियां चुराकर उसका गलत उपयोग कर सकता है।

वासरस और रैनसमवेयर वायरस दोनों में क्या है अंतर

आप और में हर रोज वायरस के बारे में सुनते हे . वहीं अब हम लोग वायरस के साथ रैनसमवेयर वायरस का भी जिक्र करते हे. ऐसे में आपके मन में यह सवाल आना आता होगा. कि आ​खिर वायरस और रैनसमवेयर दोनों में अंतर क्या है? तो आपको बता दूं कि दोनों वायरस ही हैं। किसी भी computer या leptop या डिवाइस में आने का तरीका भी वही है। पंरतु वायरस आपके फोन से डाटा चोरी करने कार्य करते हैं और उसका गलत तरीके से उपयोग कर सकते हैं जबकि रैनसमवेयर आपके डिवाइस पर अपना अधिकार बना लेता है और फाइलों के एन्क्रिप्ट कर देता है ​जिससे कि आप चाह कर भी खोल नहीं सकते। इसके बाद आपसे फिरौती की मांग करता है। यदि फिरौती न दें तो आपके फोन से सभी फाइल को डीलीट कर देगा। ना चाहते हुवे भी हम को इन लोगो को बिट कॉइन में पैसे देने पड़ते हे . हमरा कीमती data जो हे इन लोगो के पास . 

NOT...और कई बार तो ऐसा भी होता हे की हम पैसे भी दे देते हे मगर हमरा data वापस नहीं आता हे . अब किया करे हम ..

सबसे पहले उस वायरस की बात करते हे जिस ने हाल ही में सब को या यु कहो की करीब 155 देशों को हिला कर रख दिया हे . उस वायरस का नाम हे .

(1) वानाक्राई
आज के समय में इस से ज्यदा या यु कहु की सबसे खतरनाक रैनसमवेयर हे . तो गलत नहीं होगा .जिसने हाल में ही सायबर जगत को हिला के रख दिया है। पुरे विश्व भर में 155 से ज्यादा देश इससे प्रभावित हुए जिनमें भारत भी अछुता नहीं रहा हे । हैकर्स ने सिस्टम पर अपना नियंत्रण करने के बाद उन लोगो से फिरौती मांगी। जिस ने दी उस को उस की जानकारी वापिस आ गयी . जिस ने नहीं दी उन की sari फायल को डिलीट कर दिया गया .


खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व
(2) जिग्सॉ
 जिग्सॉ नाम के इस वायरस ने वर्ष 2016 में लोगों को काफी परेशान किया। यह फाइलों को इन्क्रिप्ट नहीं करता था बल्कि डिलीट करता था। पहले यह कंप्यूटर में घुसकर अपनी पैठ बनाता था और इसके बाद पैसे भुगतान के लिए कहता था। ऐसा नहीं करने पर यह हर घंटे डिवाइस से फाइल डिलीट करता था। हालांकि कुछ दिनों में ही इस वायरस का हल ढूढ़ लिया गया था। और काफी लोगो को दुनिया में राहत मिली थी .
खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व
(3) क्रिप्टएक्सएक्स 3.0
क्रिप्टएक्सएक्स ये भी बहुत खतरनाक वायरस था . क्रिप्ट परिवार के ​तीसरे संस्करण का यह वायरस बेहद ही खतरनाक था। वर्ष 2016 दिसंबर में कई देशों में इसने अपनी पैठ बना ली थी। क्रिशमस के डिस्काउंट देने और ऐसे ही दूसरे आॅफर्स के नाम पर यह कंप्यूटर में अपनी पैठ बना लेता ​था और ​वहां फाइलों को इन्क्रिप्ट कर देता था। इसके बाद जब आप जरूरी फाइलों को ओपेन करने जाते तो आपसे भारी भरकम रकम मांगी जाती थी।जो की कई लोगो ने दे उस समय कई लोगो की फ़ाइल् वापस दी कई की नहीं दी .
खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व
( 4) सरबर
सरबर जैसे की इस वायरस के नाम से ही आप पता लगा सकते हे की ये वायरस का जिस ने भी निर्माण किया था वो सिर्फ सायबर हमले के लिए ही बनाया होगा. इस वायरस का निर्माण सायबर क्रिमनल्स द्वारा किया जाता था। ये डिवाइस में उपलब्ध जेपीईजी, डॉक्यूमेंट और रॉ फाइल्स को एन्क्रि प्ट करने में सक्षम था। विज्ञापन या मेल आदि के माध्यम से ये वायरस सिस्टम में अपना घर बना लेते थे और जैसे ही इनका अधिकार होता था ये डेस्कटॉप वालपेपर को लाल कर देते थे। इससे ही समझ में आ जाता था कि डिवाइस में वायरस का अटैक हो चुका है। इसके बाद यूजर से काफी भारी रकम मांगी जाती थी. जैसे आज भी मागी जाती हे .

खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व
(5) डॉगस्पेक्टस
डॉगस्पेक्टस वायरस पिछले साल यानि (2016 )रैनसमवेयर काफी चर्चा में रहा। खास बात यह कही जाती है कि इसने एंडरॉयड डिवाइस को अपना निशाना बनाया। और ख़ासकर उन डिवाइस को जिन में कोई भी एंटी वायरस प्रोटेक्ट नहीं था टो या विडियो या किसी अन्य माध्यम से ये वायरस फोन में अपनी जगह बना ले​ता था और इसके बाद फोन को इन्क्रिप्ट कर 200 यूएस डॉलर आईट्यून गिफ्ट मांगता था।कई लोगो ने दिए और कई लोगो ने नहीं दिए .

खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व
(6) चिमेरा
इस रैनसमवेयर ने नवंबर 2015 में काफी लोगों को अपना शिकार बनाया। अफिलियेटेड मार्केटिंग के बढ़ते चलन में इसने इसी​ ट्रिक को अपना हथियार बनाया और लोगों को काफी परेशान किया। अफिलेटेड मार्केटिंग के ​जरिए पैसे कमाने का लालच देकर यह फोन में कोड भेजते थे जो डिवाइस को इन्क्रिप्ट कर देता था। इसके बाद ये फिरौती की रकम की मांग करते थे।  
अफिलियेटेड मार्केटिंग वो मार्किट होती हे जिस से आज के समय में कई online कम्पनी अपना प्रोडक्ट सेल करने में कमीशन देती हे . जो उस के प्रोडक्ट को सेल करता हे . उस इन्सान को .
खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व
(7) क्रिप्टोवॉल
क्रिप्टोवॉल नाम के इस वायरस ने भी काफी समय तक लोगो को तंग किया था और वर्ष 2014 में इस वायरस ने लोगों को काफी डराया। यह वायरस ईमेल, ऐड या किसी ऑनलाइन वेबसाइट के माध्यम से भी कंप्यूटर में अपनी जगह बना लेता था। एक बार वायरस आ गया तो​ ​फिर यह कंप्यूटर में उपलब्ध फाइलों को एन्क्रिप्ट कर देता था और उसे डीक्रिप्ट करने के लिए फिरौती मांगता था। अगर कोई पेसे नहीं देता तो ये उस की इंपोटेंट फ़ाइल् को डिलीट कर देता था . और कुछ ही समय में उस की सारी फ़ाइल् को भी . इस वायरस ने भी कई लोगो को परेशान किया और कई लोगो से खुब पैसे कमाए .


खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व
(8) क्रिपटोलॉकर 2.0
क्रिपटोलॉकर ये वायरस भी कुछ कुछ wesha ही काम करता था जैसे सब वायरस करते हे  
5 सितंबर 2013 में इस वायरस ने लोगों को बेहद तंग किया था। इसे इस तरह से तेयार किया गया था, जो  विंडोज कंप्यूटर को अपना निशाना बनता था। इसमें ईमेल अटैचमेंट के साथ लोगों को एक मेल भेजा गया जिसे खोलते ही कंप्यूटर पर उसने नियंत्रण कर लिया। इसके साथ ही इसने मैसेज भी भेजा जिसमें बिटक्वाइन से फिरौती मांगी गई। काफी कम्पनी वालो ने इस को बिट कॉइन के रूप में पैसे दिए . नहीं देते तो ये उन की काम की फ़ाइल् को डिलीट कर देता . जिस से उन कंपनी वालो को बहुत नुकशान उतना पडता . अब किया करे वो लोग जिन के साथ ऐसा होता हे . इन वायरस के लिए सायबर टीम बहुत काम कर रही हे मगर ये उन team से भी आगे निकल गए हे .


खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व
(9) लॉकी
लॉकी इस वायरस का नाम जितना छोटा हे काम उतने ही बड़े थे इस वायरस के इस वायरस ने फरवरी 2016 में इस रैनसमवेयर ने लोगों को बहुत तंग कर दिया था। ईमेल के साथ भेजे गए इस वायरस में पेमेंट इनवाइस भी अटैच होता था। मेल के साथ मैक्रोन भेजे जाते थे. ये अब तक का सबसे ज्यदा पवार फुल वायरस था . जिस यूजर ने इनेबल कर लिया तो ये मैक्रोन डिवाइस पर अपना अधिकार जमा कर बैठ जाता था।  और बायनेरी फाइल को रन करके ट्रॉजन डाउनलोड करते था  जो सभी फाइल को एन्क्रिप्ट कर देते थे। इसे सिस्टम में उपस्थित फाइलों को आप खोल ही नहीं सकते थे। खोलने के पैसे जो मागता था।  जिस ने दिए उस की फाइल मिल जाती थी।  या फिर पैसे दे कर भी नहीं।  इन हैकर का कोई भी दीन इमान नहीं।  
खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व
(10) पेटया
पेटया  इस के नाम से ऐसा लगता हे जैसे हम लोगो बैंकॉक घुमने निकले हो। मगर जब ये वायरस हमारे कंप्यूटर में आता था। थो पटाया ही घुमा देता था। इस वायरस ने अप्रैल 2016 में तबाही मचाई थी। इस यह वायरस बेह​द ही तेजी से कंप्यूटर्स को अपने प्रभाव में ले लेता था और पूरी बूट सिस्टम को तबाह कर देता था। प्रभावित सिस्टम के मास्टर बूट रिकॉर्ड को कस्टम बूट लोडर द्वारा ओवर राइट कर देता था और फाइल को ही एनक्रिप्ट कर देता था जिससे कि आप अपने पीसी पर उपलब्ध किसी फाइल को ओपन नहीं कर पते थे।  इस ने भी कई कम्पनी को चुना लगया। और काफी अच्छी रकम ली लोगो से।  पता नहीं कब किस के कंप्यूटर और डिवाइस में ये वायरस नाम का कीड़ा आ जाये।  थो मित्रो अपने कंप्यूटर और मोबाइल को प्रोटेक्ट कर के रखे।

खतरनाक वायरस जिनके आने से घबराया सारा विश्व
NOT......आप अपने computer को किसी ache से एंटी वायरस से प्रोटेक्ट कर के रखे . अपनी काम की फ़ाइल् का बेकैप ले कर किसी अलग हार्ड डिस में सेव कर के रखे तभी आप का data सेव रह सकता हे . वरना नहीं पता नहीं कब कोई वायरस आ कर आप की काम की फ़ाइल् को आप से दुर ले जाए . अभी कोई भी मार्किट में एंटी वायरस नहीं आया जो इन वायरस के आटेक से रोक सके या हमरी फ़ाइल् को सेव कर सके बस एक ही उपचार हे अपने कीमती फ़ाइल् का आप एक अलग हार्ड डिस में बेकेप ले ले .

उम्मीद करता हु आज की जानकारी आप लोगो के काम आयेगी . अगर काम आये तो कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट जरुर करे धयन्वाद आप का आप ने अपना कीमती समय दिया इस पोस्ट को पड़ने के लिए . 

आप सब के ANDORID मोबाइल के लिए कुछ विडियो बनायीं हे youtube chenal में 

Most Amazing Websites On The Internet Jun 2017यहाँ क्लिक कर के देखे

 जिस मर्जी से चैटिंग करो किसी को पता नहीं चलेगा 100% Workingयहाँ क्लिक कर के देखे आप

अपने काम के softwear को दुसरो की नजर से कैसे छुपायेयहाँ क्लिक कर के देखे आप

तो मिलते हे आप सब से अपनी अगली पोस्ट में कुछ nai जानकारी के साथ . तब तक 

जय गंगा माता की ...
जय हिन्द ....
वान्देमात्र्म....
POST BY ... HINDI CELL GURU.


Share To:

Hindi Cell Guru

Post A Comment:

0 comments so far,add yours