GST किया हे किन किन चीजों में कितना TEX देना होगा जानिये.

GST BILL 
नमस्कार दोस्तो आज की इस पोस्ट में , आप लोगो को बताऊंगा की GST लांच हो जाने के बाद से आप को किन किन चीजों में कितना कितना TEX देना होगा . कोन कोन सी चीज महँगी होई और कोन कोन सी सस्ती .
तो चलिए शुरू करते हे आज की पोस्ट .

देश में अप्रत्‍यक्ष कर की एक नई व्‍यवस्‍था वस्‍तु एवं सेवा कर GST लागू हो गई है। जीएसटी को आजादी के बाद से लेकर आज तक का सबसे बड़ा टैक्‍स रिफॉर्म माना जा रहा है। संविधान के 122वें संशोधन विधेयक के जरिए 1 जुलाई से देश में लगने वाले सभी अप्रत्यक्ष करों की जगह एक टैक्स “वस्तु एवं सेवा कर” लागू कर दिया गया है।

क्‍या है जीएसटी

जीएसटी एक एकीकृत टैक्‍स व्‍यवस्‍था है। केंद्र और राज्‍य अलग-अलग विभिन्‍न मदों पर सर्विस टैक्स, सेल्स टैक्स, वैट, एक्साइज ड्यूटी जैसे अप्रत्यक्ष कर वसूलते थे। अब इन सभी करों को जीएसटी में समाहित कर दिया गया है। भारत में जीएसटी की चार दरें तय की गई हैं, ये दरें हैं 5, 12, 18 और 28 फीसदी। इसके अतिरिक्‍त कुछ वस्‍तुओं पर सेस लगाने की व्‍यवस्‍था भी लागू की गई है। फिलहाल पेट्रोल, डीजल और शराब को जीएसटी से बाहर रखा गया है।GST एक जुलाई से आपकी जिंदगी का हिस्सा बन गया हे यानि आज से . किचन से लेकर सैर सपाटा, मोबाइल खरीदने से लेकर मोबाइल का बिल भरने तक सब कुछ जीएसटी से तय होने वाला है. तो आप भी जानिए कि जीएसटी से क्या सस्ता होने जा रहा है और क्या महंगा. 
जीएसटी का मतलब ये कतई नहीं है कि हर चीज पर टैक्स का एक रेट होगा. जीएसटी काउंसिल ने अलग अलग सामानों के लिए अलग अलग टैक्स रेट तय किया है. 5 फीसदी, 12 फीसदी, 18 फीसदी और 28 फीसदी. जीएसटी लागू होने से एक जुलाई से कुछ सामान सस्ते हंगे और कुछ महंगे. सरकार रोज विज्ञापन निकालकर देश को जानकारी दे रही है कि किस सामान पर कितना जीएसटी यानी टैक्स लगेगा.

इन चीजों पर सरकार ने घटाया GST

  1. इंसुलिन पर 12% से घटाकर 5%
  2. स्‍कूल बैग्‍स पर 28% से घटाकर 18%
  3. एक्‍सरसाइज बुक्‍स पर 18% से घटाकर 12%
  4. कंप्‍यूटर प्रिंटर 28% से घटाकर 18%
  5. अगरबत्‍ती पर 12% से घटाकर 5%
  6. काजू पर 12% घटाकर 5%
  7. डेंटल वैक्‍स पर 28% से घटाकर 8%
  8. प्‍लास्टिक बेडस्‍पर 28% से घटाकर 18%
  9. प्‍लास्टिक टर्पोलिन पर 28% से घटाकर 18%
  10. कलरिंग बुक्‍स पर 12% से घटकर 0
  11. प्री-कॉस्‍ट कंक्रीट पाइप्‍स पर 28% से घटाकर 18%
  12. कल्‍टरी पर 18% से घटकर 12%
  13. ट्रैक्‍टर कंपोनेंट्स पर 28% से घटाकर 18%
सेवाओं पर जीएसटी रेट

5% GST Rate Services 

 ट्रेन या ट्रक से माल ढुलाई, एसी ट्रेन टिकट, कैब सेवा, विमान का इकोनॉमी क्लास का टिकट, टूर ऑपरेटर सर्विसेज, विमान की लीजिंग, प्रिंट मीडिया में एडवर्टाइजिंग।

12% GST Rate Services 

  रेलवे कंटेनर से सामान ढुलाई, विमान का बिजनेस क्लास का टिकट, नॉन-एसी रेस्तरां में खाना, रोजाना 1000-2500 रुपए किराये वाला होटल, कॉम्प्लेक्स या बिल्डिंग का कंस्ट्रक्शन, पेटेंट अधिकार का अस्थायी ट्रांसफर.

18% GST Rate Services 

 फोन बिल, बैंकिंग, बीमा और अन्य फाइनेंशियल सर्विसेज, एसी और शराब लाइसेंस वाले रेस्तरां, आउटडोर कैटरिंग में खाने की सप्लाई, रोजाना 2500-5000 रु. किराए वाले होटल, सर्कस, क्लासिकल और फोक डांस, थियेटर और ड्रामा के 250 रु. से ज्यादा के टिकट, वर्क्स कॉन्ट्रैक्ट की कंपोजिट सप्लाई.

28% GST Rate Services सेल्ब

सिनेमा टिकट,थीम पार्क, वाटर पार्क, मेरी-गो-राउंड, गोकार्टिंग, कैसिनो, रेसकोर्स, बैले, आईपीएल जैसे स्पोर्ट्स इवेंट, फाइव स्टार या इससे अधिक रेटिंग वाले होटल के रेस्तरां, रोजाना 5,000 रुपए से अधिक रूम रेंट वाले होटल, गैंबलिंग।

इन प्रोडक्ट्स पर 28% टैक्स के साथ सेस भी लगेगा
पेट्रोल कार - 4 मीटर से कम लंबी, 1200 सीसी से कम इंजन क्षमता – 1% सेस कुल टैक्स 29%
डीजल कार - 4 मीटर से कम लंबी, 1500 सीसी से कम इंजन क्षमता- 3% सेस कुल टैक्स 31%।
अन्य सभी कार और एसयूवी - 15% सेस, कुल टैक्स 43%।
मोटरसाइकिल 350 सीसी से ज्यादा क्षमता वाली: 3% सेस, कुल टैक्स 31%।
प्राइवेट प्लेन और याच - 3% सेस, कुल टैक्स 31%।
कोल्ड ड्रिंक्स, लेमोनेड - 12% सेस, कुल टैक्स 40%।
बिना तंबाकू के पान मसाले - 60% सेस, कुल टैक्स 88%।
तंबाकू वाला गुटखा - 204% सेस. कुल टैक्स 232%।
अन्य तंबाकू प्रोडक्ट्स - 61-160% सेस, कुल टैक्स 89-188%

वस्‍तुओं पर जीएसटी रेट

0% GST Rates सेल्ब 

 गेहूं, चावल, दूसरे अनाज, आटा, मैदा, बेसन, चूड़ा, मूड़ी मुरमुरे, खोई, ब्रेड, गुड़, दूध, दही, लस्सी, खुला पनीर, अंडे, मीट-मछली, शहद, ताजी फल-सब्जियां, प्रसाद, नमक, सेंधा/काला नमक, कुमकुम, बिंदी, सिंदूर, चूड़ियां, पान के पत्ते, गर्भनिरोधक, स्टांप पेपर, कोर्ट के कागजात, डाक विभाग के पोस्टकार्ड/लिफाफे, किताबें, स्लेट-पेंसिल, चॉक, समाचार पत्र-पत्रिकाएं, मैप, एटलस, ग्लोब, हैंडलूम, मिट्टी के बर्तन, खेती में इस्तेमाल होने वाले औजार, बीज, बिना ब्रांड के ऑर्गेनिक खाद, सभी तरह के गर्भनिरोधक, ब्लड, सुनने की मशीन.

ये वो चीजे जो 5% GST सेल्ब में आती हे.

 ब्रांडेड अनाज, ब्रांडेड आटा, ब्रांडेड शहद, चीनी, चाय, कॉफी, मिठाइयां, खाद्य तेल, स्किम्ड मिल्क पाउडर, बच्चों के मिल्क फूड, रस्क, पिज्जा ब्रेड, टोस्ट ब्रेड, पेस्ट्री मिक्स, प्रोसेस्ड/फ्रोजन फल-सब्जियां, पैकिंग वाला पनीर, ड्राई फिश, न्यूजप्रिंट, ब्रोशर, लीफलेट, राशन का केरोसिन, रसोई गैस, झाडू, क्रीम, मसाले, जूस, साबूदाना, जड़ी-बूटी, लौंग, दालचीनी, जायफल, जीवन रक्षक दवाएं, स्टेंट, ब्लड वैक्सीन, हेपेटाइटिस डायग्नोसिस किट, ड्रग फॉर्मूलेशन, क्रच, व्हीलचेयर, ट्रायसाइकिल, लाइफबोट, हैंडपंप और उसके पार्ट्स, सोलर वाटर हीटर, रिन्यूएबल एनर्जी डिवाइस, ईंट, मिट्टी के टाइल्स, साइकिल-रिक्शा के टायर, कोयला, लिग्नाइट, कोक, कोल गैस, सभी ओर अयस्क और कंसेंट्रेट, राशन का केरोसिन, रसोई गैस.

ये वो चीजे हे जो 12% GST सेल्ब में आती हे .

 नमकीन, भुजिया, बटर ऑयल, घी, मोबाइल फोन, ड्राई फ्रूट, फ्रूट और वेजिटेबल जूस, सोया मिल्क जूस और दूध युक्त ड्रिंक्स, प्रोसेस्ड/फ्रोजन मीट-मछली, अगरबत्ती, कैंडल, आयुर्वेदिक-यूनानी-सिद्धा-होम्यो दवाएं, गॉज, बैंडेज, प्लास्टर, ऑर्थोपेडिक उपकरण, टूथ पाउडर, सिलाई मशीन और इसकी सुई, बायो गैस, एक्सरसाइज बुक, क्राफ्ट पेपर, पेपर बॉक्स, बच्चों की ड्रॉइंग और कलर बुक, प्रिंटेड कार्ड, चश्मे का लेंस, पेंसिल शार्पनर, छुरी, कॉयर मैट्रेस, एलईडी लाइट, किचन और टॉयलेट के सेरेमिक आइटम, स्टील, तांबे और एल्यूमीनियम के बर्तन, इलेक्ट्रिक वाहन, साइकिल और पार्ट्स, खेल के सामान, खिलौने वाली साइकिल, कार और स्कूटर, आर्ट वर्क, मार्बल/ग्रेनाइट ब्लॉक, छाता, वाकिंग स्टिक, फ्लाईएश की ईंटें, कंघी, पेंसिल, क्रेयॉन।

अब बात करते हे 18% GST सेल्ब  वाले Items की 

 हेयर ऑयल, साबुन, टूथपेस्ट, कॉर्न फ्लेक्स, पेस्ट्री, केक, जैम-जेली, आइसक्रीम, इंस्टैंट फूड, शुगर कन्फेक्शनरी, फूड मिक्स, सॉफ्ट ड्रिंक्स कंसेंट्रेट, डायबेटिक फूड, निकोटिन गम, मिनरल वॉटर, हेयर ऑयल, साबुन, टूथपेस्ट, कॉयर मैट्रेस, कॉटन पिलो, रजिस्टर, अकाउंट बुक, नोटबुक, इरेजर, फाउंटेन पेन, नैपकिन, टिश्यू पेपर, टॉयलेट पेपर, कैमरा, स्पीकर, प्लास्टिक प्रोडक्ट, हेलमेट, कैन, पाइप, शीट, कीटनाशक, रिफ्रैक्टरी सीमेंट, बायोडीजल, प्लास्टिक के ट्यूब, पाइप और घरेलू सामान, सेरेमिक-पोर्सिलेन-चाइना से बनी घरेलू चीजें, कांच की बोतल-जार-बर्तन, स्टील के ट-बार-एंगल-ट्यूब-पाइप-नट-बोल्ट, एलपीजी स्टोव, इलेक्ट्रिक मोटर और जेनरेटर, ऑप्टिकल फाइबर, चश्मे का फ्रेम, गॉगल्स, विकलांगों की कार. ये सब चीजे हे जो 18% पर आती हे .

अब बात करते हे 28% GST सेल्ब  वाले  Items की 

 कस्टर्ड पाउडर, इंस्टैंट कॉफी, चॉकलेट, परफ्यूम, शैंपू, ब्यूटी या मेकअप के सामान, डियोड्रेंट, हेयर डाइ/क्रीम, पाउडर, स्किन केयर प्रोडक्ट, सनस्क्रीन लोशन, मैनिक्योर/पैडीक्योर प्रोडक्ट, शेविंग क्रीम, रेजर, आफ्टरशेव, लिक्विड सोप, डिटरजेंट, एल्युमीनियम फ्वायल, टीवी, फ्रिज, वाशिंग मशीन, वैक्यूम क्लीनर, डिश वाशर, इलेक्ट्रिक हीटर, इलेक्ट्रिक हॉट प्लेट, प्रिंटर, फोटो कॉपी और फैक्स मशीन, लेदर प्रोडक्ट, विग, घड़ियां, वीडियो गेम कंसोल, सीमेंट, पेंट-वार्निश, पुट्टी, प्लाई बोर्ड, मार्बल/ग्रेनाइट ब्लॉक नहीं, प्लास्टर, माइका, स्टील पाइप, टाइल्स और सेरामिक्स प्रोडक्ट, प्लास्टिक की फ्लोर कवरिंग और बाथ फिटिंग्स, कार-बस-ट्रक के ट्यूब-टायर, लैंप, लाइट फिटिंग्स, एल्युमिनियम के डोर-विंडो फ्रेम, इनसुलेटेड वायर-केबल . और ये वो सब चीजे हे जो की 28% के सेल्ब में आती हे .

मोबाईल फोन / बिल 
मोबाइल फोन कुछ राज्यों के लिए सस्ते होंगे, कुछ राज्यों के लिए महंगे. मोबाइल के लिए टैक्स रेट 12 फीसदी तय हुआ है. जिन राज्यों में वैट 14 फीसदी था वहां के लोगों के लिए मोबाइल फोन सस्ता होगा लेकिन कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल जैसे राज्यों में वैट 5 फीसदी है इसलिए वहां के लोगों को मोबाइल पर 12 फीसदी टैक्स देना होगा और वहां मोबाइल महंगे हो जाएंगे.

मोबाईल पेमेंट नहीं बढेगा 
मोबाइल बिल का शुरुआत में पेमेंट महंगा होगा लेकिन इसमें भी आगे कमी हो सकती है. अभी 15 प्रतिशत लगता है. एक जुलाई से बिल भरेंगे तो 18 प्रतिशत बिलिंग अमाउंट पर टैक्स लगेगा. सरकार ने टेलिकॉम कंपनियों को अपनी लागत का नए सिरे से आंकलन करने को कहा है. सरकार कह रही है कि टेलिकॉम कंपनियों को इनपुट टैक्स क्रेडिट का फायदा मिलेगा, लिहाजा लागत घटेगी और जीएसटी की दर ऊंची होने के बावजूद मोबाइल बिल नहीं बढ़ेगा.

बिमा कवर होगा मंहगा
बीमा पॉलिसी एक जुलाई से महंगी होगी. बीमा को 18 फीसदी की कैटेगरी में रखा गया है. अब तक बीमा पर 15 फीसदी टैक्स लगता था. अगर आप 15,000 का बीमा करते हैं तो 2250 टैक्स लगता था. यानि आज एक जुलाई से 2700 रुपये टैक्स देना होगा.

सोना महगा 
20-जीएसटी लागू होने के बाद सोना महंगा हो सकता है. सोने पर इस समय 1 फीसदी एक्साइज ड्यूटी और 1 फीसदी वैट लगता है. सोना और गहनों पर 3 फीसदी टैक्स का फैसला हुआ है.

क्रेडिट कार्ड पेमेंट महंगा
सरकार डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा दे रही है लेकिन जीएसटी के दौर में क्रेडिट कार्ड का बिल पेमेंट महंगा हो जाएगा. अभी तक क्रेडिट कार्ड के बिल पेमेंट पर 15 फीसदी सर्विस टैक्स लगता है लेकिन एक जुलाई यानि आज से 18 फीसदी सर्विस टैक्स देना होगा.


 GST से बाहर पेट्रोल-डीजल, LPG, शराब
पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेंडर और शराब पर जीएसटी का कोई फर्क नहीं पड़ेगा. मतलब पेट्रोल, डीजल और एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में राज्यों के हिसाब से जो अंतर दिखता है वो अंतर बना रहेगा. राज्य अपनी मर्जी से इन पर टैक्स वसूलते रहेंगे. राज्यों की मांग पर केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेंडर, शराब को जीएसटी से बाहर रखा है.


ऊपर बताई गई लिस्ट से आप आसानी से जान जाएंगे कि देश को टैक्स की एक व्यवस्था, एक रेट में बांधने वाले जीएसटी से आपकी जिंदगी कैसे बदलने वाली है. आज से यानि 1 जुलाई मेने अपनी तरफ से काफी कुछ आप को बताने का पर्यास किया हे . अगर फिर भी कोई कमी रह गयी हे तो आप कमेन्ट बॉक्स में अपना कमेन्ट करना न भूले .

आप मेरे साथ YOUTUBE में भी जुड़ सकते हे यहाँ क्लिक कर के

उम्मीद करता हु आज की पोस्ट से आप कुछ फायदा जरुर होगा . तो मिलते हे आप सब से अपनी अगली पोस्ट में तब तक ...

जय गंगा माता की .....
जय हिन्द ......
वंदेमातरम........

POST BY .. HINDI CELL GURU ....

Share To:

Hindi Cell Guru

Post A Comment:

0 comments so far,add yours