Pradhan Mantri Ayushman Bharat Yojana Ki Jankari Hindi me

Pradhan Mantri Ayushman Bharat Yojana

नमस्कार दोस्तो Welcome To My Latest Article Pradhan Mantri Ayushman Bharat Yojana Ki Jankari Hindi Me आज के अपनी इस पोस्ट के दुवारा में आप लोगो को प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के बारे में जानकारी दूंगा किस - किस को इस योजना से फायदा है तो चलिए बिना देरी करे शुरू करते है अपनी आज की पोस्ट जिस का टायटल है  Pradhan Mantri Ayushman Bharat Yojana Ki Jankari Hindi Me  

आयुष्मान भारत योजना की जानकारी 

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2018 के वित्तीय बजट में स्वास्थ्य सम्बन्धी क्षेत्र में एक नई योजना की घोषणा की है और इस योजना को ‘आयुष्मान भारत योजना के नाम से जाना जाएगा. इस योजना का उद्देश्य हमारे देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की सहायता करना है. सरकार का लक्ष्य है कि इस योजाना का फायदा दस करोड़ परिवारों तक पहुंचाया जा सके. यानी लगभग 40 प्रतिशत भारतियों को इसका लाभ प्राप्त हो सकेगा जो कि एक बहुत बड़ी संख्या है. पहले इस योजना में 1 लाख तक की राशि मदद के तौर पर देने का प्रावधान था, लेकिन अब इसको बढ़ाकर पांच लाख कर दिया है. इतना ही नहीं सरकार ने 1.5 स्वास्थ्य एवं जागरूक केंद्र खोलने की भी योजना बनाई है. इस साल के बजट में स्वास्थ्य एवं मेडिकल के क्षेत्र पर खास ध्यान दिया गया है 

आयुष्मान भारत योजना का बजट 

अभी तक इस योजना के बजट को पूर्ण रूप से साफ नहीं किया गया हैं, लेकिन स्वास्थ्य केंद्रों को खोलने के लिए 1200 करोड़ के बजट का ऐलान जरूर किया गया है. पिछले वित्तीय वर्ष में बजट पेश करने के दौरान 47353 करोड़ रुपय खर्च करने का ऐलान किया था, जबकि वित्तीय वर्ष 2018-19 के बजट में स्वास्थ्य क्षेत्र में दिए जाने वाली राशि 52800 करोड़ रुपय है. मतलब साफ है सरकार स्वास्थ्य के क्षेत्र में देश को मजबूती देना चाहती है. इसके साथ-साथ सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 24280 करोड़ रुपय खर्च करने का निर्णय लिया है. इन पैसों का इस्तेमाल राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के जरिए जिलों, तहसीलों, ब्लाकों एवं गावों के अस्पतालों के सुधार एवं नई सुविधाओं का प्रबंधन करने के लिए किया जायेगा.

किन किन को मिलेगा आयुष्मान योजना का फायदा 

इस योजना का प्रमुख उदेश्य गरीब वर्ग के लोगो को कम रेट में बढ़िया स्वास्थ्य देना है यानि की गरीबो की मदद के लिए ये योजना बनाई गयी है इतना ही नहीं इस योजना की सहायता से सरकार देश के सभी गरीबों की स्वास्थ्य चिंताओं को दूर करने का प्रयास करेगी. मतलब साफ है कि इस योजना का लाभ बीपीएल धारकों एवं निम्न स्तर के लोगों को ही मिलेगा.

24 नए मेडिकल खोलने की योजना 

सरकार इस योजना से पूरे देश में 24 मेडिकल महाविद्यालय खोलने वाली है, जिनकी सहायता से हर किसी का इलाज हो सकेगा. इन कॉलेजो में सभी आधुनिक तकनीक से इलाज करने वाली सुविधाएं मौजूद होंगी, जिस वजह से आसानी से किसी भी बीमारी का इलाज किया जा सके. इतना ही नहीं इन मेडिकल कॉलेजों के खुलने से मेडिकल के छात्रों को कई सारी नई तकनीकी सीखने को मिलेंगी.

आयुष्मान योजना के लाभ 

[1] अस्पतालों में नये रोजगारो की भर्ती होगी - इस योजना से कई स्वास्थ्य केंद्र भी खोलेंगे जिससे रोजगार बढ़ेगा. वहीं कुछ समय पहले भारत के नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भारत में मौजूद डॉक्टरों की संख्या को भारत की जनसंख्या के हिसाब से काफी कम बताया था, इसलिए सरकार इन कॉलेजों की मदद से इस समस्या से निपटने के लिए तैयार है.


[2] गरीबो की मदद होगी - भारत में गरीब लोग बड़ी बीमारियों का इलाज नहीं करा पाते है, जिससे बहुत से गरीबों की मृत्यु भी हो जाती है. वहीं दूसरी तरफ देखा जाय तो गरीब अगर इलाज करवाता है तो उसकी जमा पूँजी भी समाप्त हो जाती है. जिसके चलते स्वास्थ्य समस्या के साथ गरीबों की पैसों की समस्या भी बढ़ जाती है. वहीं इस योजना से गरीबों को हर तरह की समस्यायों से आसानी से छुटकारा मिल सकेगा.

[3] जटिल बीमारियों का इलाज बहुत आसनी से होगा - कैंसर एवं टीबी जैसी जानलेवा बीमारियों का इलाज करवाने के लिए गांवों में कोई भी सुविधा नहीं होती है. वहीं इस योजना की मदद से इन बीमारियों के इलाज के लिए गरीब लोगों को ज्यादा दूर या फिर शहर से बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. उनका इलाज आसानी से हो सकेगा.

[4] भारत को रोग मुक्त बनाने में सहयता - जिस हिसाब से इस योजना का प्रारूप बनाया गया है, इसकी मदद से भारत को रोग मुक्त बनाया जा सकता है. क्योंकि अमीरों का तबका तो अपना इलाज करवाने में सक्षम है लेकिन गरीब इन मामलों में पीछे रह जाता है. लेकिन इस योजना के आने से भारत का हर नागरिक इलाज करने में सक्षम हो जायेगा. 


[5] केश लेश भुगतान - मौजूदा सरकार ने हमेशा से भारत को डिजिटल बनाने पर जोर दिया है, इसलिए उम्मीद की जा रही है कि सरकार आयुष्मान भारत प्रोग्राम के तहत राशि का भुगतान ऑनलाइन देने की कोशिश करेगी. इतना ही नहीं सरकार यह लाभ सरकारी और प्राइवेट किसी भी तरह के अस्पताल में इलाज करने के लिए दे सकती है.

[6] सरकारी होस्पिटल में नयी सुविधाये - भारत में अधिकतर लोग सरकारी अस्पतालों की जगह गैर सरकारी यानी की प्राइवेट अस्पतालों में जाना पसंद करते है, जबकि सरकारी अस्पतालों में यही इलाज कम पैसों में भी हो सकता है. लोगों को सरकारी अस्पतालों की ओर आकर्षित करने एवं लोगों के नजरिए को बदलने के लिए, सरकार सरकारी अस्पतालों को दुरुस्त एवं नई इलाज प्रणाली की सुविधा देने में पैसा खर्च कर रही है. जिसकी वजह से सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ मध्यम एवं निम्न स्तर के लोगों को काफी फायदा मिलेगी.


[7] टीबी के मरीजो के लिए काफी राहत - वित्तीय बजट 2018 की घोषणा के दौरान भारत के वित्त मंत्री ने जानकारी दी कि सरकार टीबी के मरीजों के लिए भी नई योजना लेकर आई है. योजना का लक्ष्य सन् 2025 से पहले टीबी जैसे खतरनाक बीमारी को भारत से उखड फेकना है, क्योंकि हमारे देश में प्रति वर्ष 14 प्रतिशत टीबी के मरीजों की मौत हो जाती है और यह आंकड़े बहुत खतरनाक है. बस इस मामले में चीन अकेला देश ही हमसे आगे हैं. भारत में करीबन 30 लाख तक टीबी के मरीज हर साल भारत के अस्पतालों में अपना पंजीयन करते हैं. सरकार इस योजना को आयुष्मान भारत के अंतर्गत ही लाएगी जिसमें टीबी के मरीज को वार्षिक 6000 रुपय सहायता के रूप में प्राप्त होंगे. वहीं इस योजना के लिए सरकार ने 6000 करोड़ का बजट आवंटित किया है. हालांकि इस बजट में सरकार ने एचआईवी से पीड़ित लोगों को दी जाने वाली सहायता राशि में से 63 करोड़ कम कर दी है.

विश्व की सबसे बड़ी योजना है 

संयुक्त राष्ट्र अमेरिका की सरकार ने अपने देश के 15 प्रतिशत जनसंख्या का स्वास्थ्य बीमा करवाया था. उस समय अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने ‘ओबामाकेयर’ नाम की योजना पर सन् 2010 को हस्ताक्षर किये थे. इसी तर्ज पर भारत के वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ‘मोदीकेयर’ यानी आयुष्मान भारत प्रोग्राम नामक योजना का ऐलान किया है. जिसमें 40 % गरीब भारतीय जनता को फायदा देने की बात कही गई है, जो कि ओबामाकेयर से काफी अधिक है. इसलिए इस योजना को ओबामाकेयर से काफी बड़ा बताया जा रहा है. ओबामाकेयर इस संसार की सबसे बड़ी हेल्थ बीमा योजना थी, वहीं इस समय भारत इस योजना की तुलना में काफी आगे निकल चुका है.

किया सरकार इस योजना को पूरा कर सकेगी की नहीं 

इस बात से कोई भी मना नहीं कर सकता कि इस योजना से भारत को मेडिकल के क्षेत्र में काफी नए मुकाम हासिल होंगे. सबसे बड़ी बात यह है कि भारत के लगभग सभी गरीबों तक इस योजना का लाभ पहुंचाने की कोशिश की जा रही है. हालांकि इतनी बड़ी योजना को सुचारू रूप से चलाना काफी मुश्किल का काम है. अगर भारत की सरकार इसका संचालन सही तरह से कर ले जाती है, तो ये स्वास्थ्य के क्षेत्र में बहुत बड़ी जीत होगी.

उम्मीद करता हु आप को मेरे दुवारा दी गयी आज की जानकारी से फयदा होगा . और आप को प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के बारे में पूरा पता चल गया होगा . यदि कुछ मुझ से कोई छुट गयी हो तो माफ़ करे मेरा उदेश्य सिर्फ आप तक सही योजना जानकारी देना है . अगर पोस्ट पसंद आये तो प्ल्ज़ इस पोस्ट को शेयर और लाइक जरुर करे धन्यवाद आप सब का ..


आप ने अपना कीमती समय दिया इस पोस्ट को पड़ने में आप का बहुत बहुत धन्यवाद तो मिलते हे आप सब से अपनी अगली पोस्ट में कुछ नई जानकारी के साथ पोस्ट आप सब को कैसी लगी कमेन्ट जरुर करे . आप के कमेन्ट से मुझे कुछ नया लिखने की प्ररेणा मिलती हे , और अपनी गलती को सही करने की भी . वैसे भी ये website आप लोगो की हे . आप लोग किस तरह की पोस्ट पड़ना पसंद करते हे कमेन्ट बॉक्स में जरुर बताये .

POST BY HINDI CELL GURU
Share To:

Hindi Cell Guru

Post A Comment:

0 comments so far,add yours